Advertisment
CHINA

चीन में भारतीय स्टूडेंट्स के लिए स्कॉलरशिप – chinese government scholarship for indian students

Advertisment

चीन सरकार की तरफ से भारतीय स्टूडेंट्स के लिए कई सारी स्कॉलरशिप 2012-2013 में पहली बार दी गई। जोकि हर साल भारतीय स्टूडेंट्स को चीन में जाकर पढ़ने और वहां के कल्चर को जानने का मौका देती है। चीन भी विश्व के कई अच्छे एजुकेशनल देशों में गिना जाने लगा है। आइए चानते है कि भारतीय स्टूडेंट्स इसे कैसे पा सकते है और चीन में जाकर अपनी पढ़ाई कर सकते हैं।

चीन जाकर कौन- कौन से सब्जेक्ट की पढ़ाई कर सकते है:
हायर स्टडी/रिसर्च/स्पेशलाइज्ड ट्रेनिंग फॉर चाइनीज़ लैंग्वेज एंड लिटरेचर, बिजनेस मैनेजमेंट (MBA), प्लांट ब्रीडिंग एंड जेनेटिक, एनवायरमेंटल साइंस, फाइन आटर्स, एग्रोनमी, सैरीकल्चर एंड बॉटनी।

चाइनीज़ स्कॉलरशिप अमाउंट:
1.सीनियर एडवांस स्टूडेंट्स – 2,000 यूऑन प्रति माह
2.साधारण ग्रैजुएट स्टूडेंट्स – 1,400 यूऑन प्रति माह
3.ग्रैजुएट स्टूडेंट्स – 1,100 यूऑन प्रति माह

इसके साथ चीन की सरकार प्रत्येक स्टूडेंट को बोडिंग, लोडिंग, मेडिकल केयर और ट्यूशन की सुविधा भी देती है। इसके अलावा भारतीय सरकार अलग से हर महीने 1170 यूऑन स्टूडेंट्स को देती है।

स्कॉलरशिप के लिए योग्यता :
वह भारतीय का होना जरूरी है।
1.चाइनिश लैंग्वेज एंड लिटरेचर – इसके लिए एक या दो साल का चाइनिश लैंग्वेज में सर्टिफिकेट, डिप्लोमा या डिग्री का होना अनिवार्य है, साथ ही यह किसी भी प्रतिष्ठित या मान्यता प्राप्त संस्थान का होना चाहिए।
2.फाइन आर्ट (पेंटिंग एंड स्कपचर) – बैचलर डिग्री में 60 पर्सेंट मार्क्स होना जरूरी है।
3.दूसरे सब्जेक्ट – पोस्ट ग्रैजुएट में 60 पर्सेंट मार्क्स संबंधित सब्जेक्ट में होना चाहिए। उसके बाद सलेक्ट स्टूडेंट्स को एक साल तक अपनी चॉइस के सब्जेक्ट के साथ चाइनी़ लैंग्वेज भी पढ़नी पड़ेगी।

उम्र सीमा :
40 साल से अधिक नहीं होना चाहिए।

किस तरह अप्लाई कर सकते हैं
चीन की एजुकेशनल स्कॉलरशिप पाने के लिए उसकी वेबसाइट पर जाकर अप्लाई किया जा सकता है।

Advertisment

Related Articles
Advertisment
Show More
Advertisment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisment
Back to top button
%d bloggers like this: