Advertisment
HYDERABAD

तेलंगाना में विधानपरिषद की दो स्नातक निर्वाचन सीटों के लिए मतदान रविवार को – polling for two graduate electoral seats of the legislative council in telangana on sunday

Advertisment

हैदराबाद, 13 मार्च (भाषा) तेलंगाना में विधान परिषद के दो स्नातक निर्वाचन क्षेत्रों में रविवार को होने वाले मतदान को लेकर तैयारी पूरी हो गई जहां बहुकोणीय मुकाबला देखा जा रहा है।

महबूबनगर-रंगारेड्डी-हैदराबाद और वारंगल-खम्मम- नलगोंडा स्नातक निर्वाचन क्षेत्रों के लिए मतदान सुबह 8 बजे से शाम 4 बजे तक होगा।

चुनाव मैदान में बड़ी संख्या में उम्मीदवारों को देखते हुए मतदान के लिए बड़े आकार की मतपेटियां और बड़े मतपत्र तैयार किये गए हैं।

महबूबनगर-रंगारेड्डी-हैदराबाद निर्वाचन क्षेत्र से 93 उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं, जबकि वारंगल-खम्मम-नलगोंडा निर्वाचन क्षेत्र से 71 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं।

कुल 1,530 मतदान केंद्रों पर 10 लाख से अधिक स्नातक अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे।

दो स्नातक निर्वाचन क्षेत्रों के चुनाव को लेकर चुनाव प्रचार के दौरान सत्तारूढ़ टीआरएस और विपक्षी भाजपा और कांग्रेस के बीच वाकयुद्ध देखने को मिला था।

पिछले साल के अंत में डुब्बक विधानसभा सीट के उपचुनाव और हैदराबाद निकाय चुनावों में अप्रत्याशित असफलताओं की पृष्ठभूमि में सत्तारूढ़ टीआरएस ने दोनों विधान परिषद सीटें जीतने के लिए काफी जोर लगाया है। टीआरएस ने प्रचार अभियान के लिए राज्य के मंत्रियों, सांसदों और अन्य नेताओं को लगाया था।

टीआरएस ने एक आश्चर्यजनक कदम के तौर पर पूर्व प्रधानमंत्री पी वी नरसिंह राव की बेटी एस वाणी देवी को महबूबनगर-रंगारेड्डी- हैदराबाद स्नातक क्षेत्र से अपना उम्मीदवार बनाया है जो एक शिक्षाविद और कलाकार हैं।

Advertisment

हालांकि, वर्तमान विधान पार्षद (एमएलसी) एवं भाजपा नेता एन रामचंदर राव ने भी प्रचार में काफी जोर लगाया। केंद्रीय गृह राज्यमंत्री जी किशन रेड्डी, भाजपा ओबीसी मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष के लक्ष्मण और अन्य नेताओं ने भाजपा के उम्मीदवार के लिए प्रचार किया।

Related Articles

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने हाल ही में रामचंदर राव के समर्थन में दो सभाओं को संबोधित किया।

टीआरएस के कार्यकारी अध्यक्ष और राज्य के मंत्री के टी रामाराव ने टीआरएस के प्रचार अभियान की अगुवाई की। उन्होंने अविभाजित आंध्र प्रदेश के विभाजन के समय राजग सरकार द्वारा तेलंगाना से किए गए वादों को कथित रूप से लागू नहीं करने और वादे के अनुसार देश में दो करोड़ नौकरियां मुहैया नहीं कराने को लेकर को लेकर भाजपा पर हमला बोला।

इस बीच, भाजपा ने शिक्षा क्षेत्र को कथित रूप से उपेक्षित करने और रोजगार नहीं देने आदि मुद्दों को लेकर राज्य में सत्तारूढ़ टीआरएस पर हमला बोला।

महबूबनगर-रंगारेड्डी-हैदराबाद निर्वाचन क्षेत्र में पूर्व मंत्री जी चिन्ना रेड्डी (कांग्रेस), तेदेपा की तेलंगाना इकाई के अध्यक्ष एल रमण और पूर्व एमएलसी के नागेश्वर एवं अन्य के चुनाव मैदान में होने से मुकाबला रोचक हो गया है।

टीआरएस ने वर्तमान एमएलसी पल्ला राजेश्वर रेड्डी को वारंगल-खम्मम-नालगोंडा स्नातक निर्वाचन क्षेत्र से मैदान में उतारा है जबकि जी पी रेड्डी भाजपा उम्मीदवार हैं। तेलंगाना जन समिति (टीजेएस) के नेता एम कोदंडारम यहां से मैदान में हैं।

मतगणना 17 मार्च को होगी।

Advertisment
Show More
Advertisment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisment