Advertisment
MUMBAI

महाराष्ट्र में कोरोना की दूसरी लहर: corona cases are increasing rapidly: महाराष्ट्र में लगातार बढ़ रहे हैं कोरोना के मामले

Advertisment

हाइलाइट्स:

  • महाराष्ट्र में आई कोरोना की दूसरी लहर
  • कोरोना की दूसरी लहर ने बढ़ाई महाराष्ट्र सरकार की मुश्किलें
  • महाराष्ट्र में लगातार बढ़ रहे हैं कोरोना के मामले
  • महाराष्ट्र सरकार ने कोरोना मामलों को कम करने के लिए लगाए कड़े नियम

मुंबई
महाराष्ट्र (Maharashtra Corona Second Wave) में कोरोना के बढ़ते मामलों साथ एक और तनाव बढ़ाने वाली खबर सामने आई है। केंद्रीय सर्वेक्षण टीम द्वारा बनाई गई रिपोर्ट में यह बताया गया है कि महाराष्ट्र में कोरोना की दूसरी लहर आ चुकी है। महाराष्ट्र में अब इसलिए दूसरी लहर की शुरुआत हो चुकी है। भारत सरकार के स्वास्थ्य सचिव ने महाराष्ट्र सरकार को पत्र लिखकर 7 मार्च से 11 मार्च के बीच केंद्रीय सर्वेक्षण टीम द्वारा महाराष्ट्र में किए गए सर्वेक्षण के बाद सरकार को कई सुझाव भी दिए हैं।

केंद्रीय टीम के मुताबिक कोरोना से निपटने के लिए जिले स्तर पर जो कदम उठाया जा रहे हैं। खासतौर पर नाइट कर्फ्यू और वीकेंड लॉकडाउन यह कदम कोरोना के रोकथाम के लिए नाकाफी हैं। जिला स्तर पर सरकार को और कुछ कड़े कदम उठाने होंगे।

राज्य में कोरोना के 15,051 नए मामले
महाराष्ट्र में सोमवार को कोरोना वायरस के 15,051 नए मामले सामने आए हैं। जिससे राज्य में संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 23,29,464 तक पहुंच गए हैं। जबकि बीमारी से 48 लोगों की मौत हो गई। जिससे राज्य में इस महामारी में जान गंवाने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 52,909 हो गई। स्वास्थ्य विभाग ने यह जानकारी दी। राज्य में 10,671 कोरोना वायरस रोगियों को अस्पतालों से छुट्टी मिलने के साथ ही अब तक ठीक हो चुके लोगों की संख्या बढ़कर 21,44,743 तक पहुंच गई।

सभी सार्वजनिक समारोहों पर लगा प्रतिबंध
नई गाइडलाइन में महाराष्‍ट्र सरकार ने कंटेनमेंट जोन में लगाई गई सभी पाबंदियों को 31 मार्च तक बढ़ा दिया है। सभी रेस्तरां, होटल और सिनेमा हॉल में मास्क पहनना, तापमान जांचना और हाथों को सेनेटाइज करना अनिवार्य कर दिया गया है। इसके अलावा शादी समारोहों में मेहमानों की संख्‍या भी तय कर दी गई है। शादियों में 50 से ज्‍यादा मेहमान नहीं शामिल हो सकते हैं। वहीं, सभी सामाजिक, सांस्कृतिक, राजनीतिक और धार्मिक समारोहों पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया गया है। गाइडलाइन के अनुसार, अंतिम संस्‍कार में 20 से अधिक लोगों को शामिल होने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

Advertisment
Show More
Advertisment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisment