Advertisment
MUMBAI

मुकेश अंबानी धमकी मामला: ncp says it’s not a routine transfer: अनिल देशमुख ने कहा की जांच के दौरान परमबीर सिंह की गलतियां सामने आई थीं

Advertisment

हाइलाइट्स:

  • परमबीर सिंह के तबादले पर शिवसेना और एनसीपी आई आमने-सामने
  • शिवसेना ने कहा कि परमबीर सिंह का तबादला रुटीन ट्रांसफर है
  • जवाब में गृहमंत्री अनिल देशमुख ने कहा कि गलतियों की वजह से उनको पद से हटाया गया
  • अनिल देशमुख ने कहा की जांच के दौरान परमबीर सिंह की गलतियां सामने आई थीं

मुंबई
मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह को पोस्ट से हटाए जाने के बाद अब एक बार फिर से महाविकास अघाड़ी सरकार में मौजूद मतभेद खुलकर सामने आ गए हैं। एक तरफ जहां शिवसेना इसे रुटीन ट्रांसफर बता रही है। वहीं महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख साफ साफ लफ्जों में कहा है कि यह रुटीन ट्रांसफर नहीं है बल्कि परमबीर सिंह को उनकी गलतियों की वजह से हटाया गया है।

एनआईए और एटीएस की जांच में कई ऐसी बातें सामने आई जिसमें उनकी गलती नजर आईं और इन्हीं गलतियों की वजह से उन्हें मुंबई पुलिस के कमिश्नर पद से हटाया गया है। आपको बता दें कि संजय राउत ने कहा था कि यह एक रुटीन ट्रांसफर की प्रक्रिया है जो लगभग हर साल होती है।

इन दोनों बयानों से एक बात साफ कही जा सकती है कि फिलहाल इस मुद्दे पर शिवसेना और एनसीपी में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। आपको बता दें इसके पहले भी कई सारे ऐसे मुद्दे रहे हैं जब शिवसेना और एनसीपी के मतभेद खुलकर सामने आए हैं।

बीजेपी ने कसा तंज
वहीं बीजेपी के सांसद मनोज कोटक ने कहा है कि सचिन वझे की गाड़ी अभी भी मुंबई कमिश्नर ऑफिस में कैसे पार्क हुई और सचिन वझे का राजनीतिक आका कौन है? इस बात की भी छानबीन होनी चाहिए। दूसरी तरफ बीजेपी के प्रवक्ता राम कदम ने कहा है कि आखिर इन दोनों पार्टियों पर कैसे भरोसा किया जाए दोनों ही पार्टियां का सार्वजनिक मंच से अलग-अलग बातें कह रहे हैं। उन्होंने कहा कि इन दोनों दलों के बीच में आपसी टकराव है जिसकी वजह से महाराष्ट्र में कानून और व्यवस्था की धज्जियां उड़ रही हैं।

खाड़ी में फेंके जाने तक जिंदा थे मनसुख?
मनसुख हिरेन हत्या मामले (Mansukh Hiren Murder Case) की जांच कर रही एटीएस को इस बात का शक है कि मुंब्रा की खाड़ी में फेंके जाने के पहले तक वे जिंदा थे। आपको बता दें कि मनसुख हीरेन की स्कॉर्पियो में विस्फोटक भरकर उसे देश के प्रसिद्ध उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के पास खड़ा किया गया था। इस मामले के कुछ दिन बाद उनकी लाश मुंबई से सटे मुंब्रा इलाके की खाड़ी में पाई गई थी। इस मामले में उनकी पत्नी ने सचिन वझे पर हत्या का आरोप लगाया था।

ऑडी की तलाश में एनआईए
वहीं अंबानी धमकी मामले की जांच कर रही एनआईए (NIA) अब उस ऑडी कार की तलाश में है, जिसमें वझे बैठकर पुलिस हेड क्वार्टर आए थे और तीन बैग भरकर डाक्यूमेंट्स और अन्य सामान लेकर गए थे। मंगलवार को वझे की मर्सिडीज़ को एनआईए ने सीज़ किया था। जिसमे से पांच लाख सत्तर हज़ार रूपये नकद और नोट गिनने वाली मशीन मिली थी।

Uddhav Thackeray and Sharad Pawar

परमबीर सिंह के तबादले पर शिवसेना और एनसीपी आई आमने-सामने

Advertisment

Related Articles

Advertisment
Show More
Advertisment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisment