Advertisment
UK

विदेश में सीखें इंडियन लैंग्वेज – learn indian language in foreign country

Advertisment

यूनिवर्सिटी ऑफ़ एडिनबरा ने इंडियन लैंग्वेज इंस्टिट्यूट शुरू किया है। इसका मकसद सभी भारतीय भाषाओं की ट्रेनिंग देना है। ट्रिना राय ने इंस्टिट्यूट के डायरेक्टर रॉजर जैफरी से बातचीत की।

यह इंस्टिट्यूट खोलने की जरूरत क्यों पड़ी?
हम चाहते हैं कि दुनियाभर के देशों के लोगों के साथ काम करें। हम मानव व पशु दवाओं, इंजीनियरिंग, सोशल साइंस और कंप्यूटर साइंस के बिजनेस को ज्यादा से ज्यादा देशों के साथ करना चाहते हैं, ताकि सब साथ मिलकर दुनिया से खाने की कमी, पर्यावरण में बदलाव और बीमारियों जैसी समस्या से लड़ सकें।

इंस्टिट्यूट के प्लान के बारे में बताइए।
देखिए भाषा की ट्रेनिंग देना बहुत मंहगा होता है। यूके में केवल लंदन में यह डिग्री कोर्स ऑफर किया जा रहा है। दरअसल भाषा की जानकारी न होना बिजनेस में बाधा बन सकता है। इसलिए यह इंस्टिट्यूट शुरू करने का सोचा गया। फिलहाल चार अन्य यूनिवर्सिटी इस बाधा को दूर करने के लिए लैंग्वेज सिखा रही हैं। हम सबसे पहले हिंदी भाषा से शुरुआत करेंगे। इसके बाद तमिल, गुजराती और बंगाली भाषा सिखाएंगे।

इंस्टिट्यूट शुरू करने से पहले किन चीजों पर ध्यान देंगे?
Edinburgh साइंस, बिजनेस, मेडिसिन और इंजीनियरिंग के क्षेत्र में सबसे अधिक काम करता है। हाल ही में हमने बेंगलुरु में लैब खोली है जो स्टेम सेल और डिसेबल लोगों के इलाज के लिए विशेष काम करती है। लेकिन अब हम इन सबके अलावा आर्ट, मैथ्स और दवाओं के क्षेत्र में भी काम करेंगे।

भारतीय छात्रों को क्या खास ऑफर दिए जाएंगे?
हमारा सबसे पहला गोल है स्टूडेंट को एक्सचेंज करना। हम इंडियन छात्रों के अलावा अन्य जगहों से भी स्टूडेंट अपने यहां लाना चाहते हैं। Edinburgh ने महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट के तहत अपने 90 स्टूडेंट और 10 फैक्लटी को दिल्ली यूनिवर्सिटी में भेजा है, जो कि अगस्त 2013 से शुरू हो जाएगा। इसी कड़ी में हम छात्रों को पीएचडी भी ऑफर कर रहे हैं। हमारे यहां के स्टूडेंट यहां और यहां के स्टूडेंट हमारे यहां पीएचडी कर सकेंगे।

Advertisment
Show More
Advertisment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisment
Back to top button
%d bloggers like this: