Advertisment
US

सिर्फ एमबीए नहीं.. फुली इम्प्लॉयड एमबीए करें – international MBA is the future

Advertisment

दुनिया भर के मैनेजमेंट ग्रैजुएट्स के लिए भारत अब भी बड़ा हब है। हाल ही में UCLA यानी यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफॉर्निया, लॉस एंजिलिस के फुली इम्पलॉयड MBA (FEMBA) प्रोग्राम के स्टूडेंट्स और फैकल्टी यहां एक स्टडी प्रोग्राम पर आए थे। बता रही हैं गौरी राने:

कई देशों में नौकरी के अवसर अब भी असमान हैं, लेकिन दुनिया भर में टॉप बी-स्कूलों के मैनेजमेंट ग्रैजुएट्स के लिए अच्छे मौके बरकरार हैं। ग्लोबल मैनेजर्स की डिमांड को ध्यान में रखते हुए ये बी-स्कूल स्टूडेंट्स के लिए स्पेशल कैप्स्यूल प्रोग्राम तैयार कर रहे हैं जिससे स्टूडेंट्स वर्ल्ड इकॉनमी को समझ सकें। CLA में इकॉनमिक्स के प्रोफेसर रोमेन वैक्जियार्ग ने बताया कि यह ट्रिप कोर्स का हिस्सा है जो भारत के बिजनेस एन्वायरनमेंट पर आधारित है। यह कोर्स उन कोर्सेज की सीरीज का भी हिस्सा है, जिन्हें स्टूडेंट्स के लिए खासतौर पर डिजाइन किया गया है ताकि वह अलग-अलग तरह के देशों में बिजनेस के बारे में सीखें, खासकर उभरती हुई मार्केट्स के बारे में। इससे पहले FEMBA के स्टूडेंट्स चाइना, चिली, साउथ कोरिया भी जा चुके हैं ताकि इन देशों की इकॉनमी को समझ सकें। वैक्जियार्ग ने बताया कि भारत पर फोकस करने के कई कारण हैं जिनमें इसकी जीडीपी ग्रोथ, मिडल क्लास की ग्रोथ, फाइनेंशल सेक्टर का विकास शामिल हैं।

UCLA एंडरसन से एमबीए कर रहे हरीश अनेजा का कहना है कि चीन और अधिकतर विकसित देश बढ़ती उम्र की आबादी से जूझ रहे हैं, वहीं भारत की आधी आबादी की उम्र 26 साल से कम है। साथ ही मजबूत एजुकेशन सिस्टम और दुनिया में सबसे ज्यादा इंग्लिश बोलने वाली आबादी भी भारत को दुनिया भर के मैनेजमेंट ग्रैजुएट्स की पसंद बनाती है।

क्या है फुली इम्प्लॉयड एमबीए?
फुली इम्प्लॉयड एमबीए (FEMBA) 3 साल का प्रोग्राम है। प्रोफेसर वैक्जियार्ग ने बताया कि FEMBA प्रोग्राम में क्लासेज शाम को और वीकएंड पर लगाई जाती हैं ताकि स्टूडेंट्स का वर्क शेड्यूल डिस्टर्ब न हो। स्टूडेंट्स CLA एंडरसन में कराए जाने वाले एमबीए प्रोग्राम का ही कोर्स ले सकते हैं। उनके पास वही इलेक्टिव, अलूमनाई का वही नेटवर्क और करियर सर्विस होती हैं। साथ ही उन्हें वही डिग्री भी मिलती है। इसके अलावा, इस प्रोग्राम में कुछ इनोवेशन भी किए गए हैं जैसे इंटरनैशनल स्टडी ट्रिप्स, ग्लोबल एक्सेस प्रोग्राम, साथ ही इस कोर्स के स्टूडेंट्स इंटरनैशनल कंपनियों के साथ 6 महीने काम भी करते हैं। CLA ने इस साल एक पायलट हाइब्रिड FEMBA सेक्शन भी शुरू किया है। यह ऑनलाइन एजुकेशन को CLA कैंपस की पीरियॉडिक वीकएंड विजिट के साथ जोड़ेगा।

इंटरनैशनल एमबीए – द फ्यूचर
हरीश अनेजा ने बताया कि एमबीए कैंडिडेट्स को ग्लोबल इकॉनमिक क्लाइमेट को ग्रहण करने की जरूरत है। इंटरनैशनल एमबीए इंटरनैशनल मार्केट में मौजूद अवसरों को पहचानने में, बढ़ती हुई मार्केट्स में इनोवेशन करने में और लाने में, ऑपरेटिंग एक्सपेंडिचर को कम करने में और मार्जिनल रिवेन्यू बढ़ाने में मदद करता है।

अधिकतर कॉरपोरेशन ग्लोबलाइज हो रहे हैं और सीमाओं को ध्यान में न रखते हुए काम कर रहे हैं। वैक्जियार्ग महसूस करते हैं कि जो एमबीए ग्रैजुएट्स बिजनेस के ग्लोबल सिनेरियो से परिचित हैं और इंटरनैशनल मार्केट्स के बारे में विस्तार से बता सकते हैं, वह उन ग्रैजुएट्स से ज्यादा बेहतर हैं जिनका फोकस घरेलू मार्केट्स पर है। उन्होंने बताया कि FEMBA को अच्छा रिस्पॉन्स मिल रहा है क्योंकि इस प्रोग्राम के तहत फुल टाइम एमबीए करने के लिए स्टूडेंट्स को अपनी जॉब नहीं छोड़नी पड़ती। उनके अनुसार यह स्लोडाउन स्कूल जाने का अच्छा समय है क्योंकि इस समय अच्छे जॉब अवसरों को मिस करने का रिस्क कम होता है।

Advertisment
Show More
Advertisment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisment
Back to top button
%d bloggers like this: