UTTAR PRADESH

Doctor forgot scissors after surgery: marij ke pet me surgery ke baad kainchi chhodi ab mila insaf : मरीज के पेट में सर्जरी के बाद कैंची छोड़ी, मिला इंसाफ

हाइलाइट्स:

  • बुलंदशहर में 8 साल बाद एक परिवार को मिला इंसाफ
  • डॉक्टर दंपती ने सर्जरी के बाद पेट में कैंची छोड़ दी थी
  • इंफेक्शन फैलने की वजह से सर्जरी के 7 साल बाद मौत
  • उपभोक्ता फोरम का प्रैक्टिस रोकने और जुर्माने का आदेश

बुलंदशहर
ऑपरेशन के दौरान मरीज के पेट में कैंची भूल जाना यह कहानी फिल्मी जरूर है, लेकिन सच्ची है। यूपी के बुलंदशहर में डॉक्टर दंपती ने ऐसा ही कारनामा कर डाला। यहां डॉक्टर दंपती यूट्रस (गर्भाशय) के ऑपरेशन के दौरान मरीज के पेट में कैंची भूल गया और मरीज की जान चली गई। बेहद संजीदा इस मामले की सुनवाई करते हुए जिला उपभोक्ता फोरम ने मृतक मरीज के परिजनों को उपचार में खर्च की रकम को ब्याज समेत वापस लौटने का फैसला सुनाया है। साथ ही डीएम और सीएमओ को दोषी डॉक्टर दंपती की प्रैक्टिस रोकने के लिए मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (एमसीआई) को लिखने का आदेश दिया है।

नगर क्षेत्र निवासी प्रमिला मित्तल और डॉ जितेंद्र मित्तल दंपती का हॉस्पिटल है। अनूपशहर दिल्ली दरवाजा निवासी अवधेश कुमार की पत्नी गीता को नवंबर 2012 में पेट दर्द की शिकायत हुई थी। जिसके बाद उन्हें इसी अस्पताल में भर्ती कराया गया। जांच के बाद डॉक्टरों ने गीता का ऑपरेशन कराने की सलाह दी थी। ऑपरेशन के 6 दिन बाद गीता को डिस्चार्ज कर दिया गया। ऑपरेशन के एवज में उनसे 30 हजार रुपये लिए गए और 20 हजार रुपये की कोई रसीद भी नहीं दी गई।

जून 2020 को गीता की मौत हो गई
ऑपरेशन के बाद भी महिला के पेट में दर्द बना रहा। दर्द से राहत नहीं मिलने पर जनवरी 2013 में गीता को दिल्ली के सेंट स्टीफन अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां एक्स-रे में खुलासा हुआ कि गीता के पेट में कैंची है। जिसे ऑपरेशन कर निकालना पड़ेगा, सेंट स्टीफन अस्पताल ने गीता का ऑपरेशन कर कैंची निकाली। कैंची के इंफेक्शन की वजह से गीता की तकलीफें बढ़ती चली गईं और जून 2020 में गीता की मौत हो गई।

अदालत ने माना दोषी
इस मामले में मृतका के पति अवधेश कुमार ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। डॉक्टर प्रमिला मित्तल और जितेंद्र मित्तल ने उपभोक्ता फोरम में अपना पक्ष रखते हुए कहा कि उन्हें साजिश के तहत फंसाया जा रहा हैं। न्यायालय ने दंपती को दोषी करार दिया। डॉक्टर प्रमिला मित्तल और जितेंद्र मित्तल को पूर्ण रूप से लापरवाही और असावधानी बरतने का दोषी माना गया है।

DOCTOR

प्रतीकात्मक तस्वीर

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: