INDIA

haridwar mahakumbh 2021 centre write letter to uttrakhand govt over corona cases : कुंभ मेले के को लेकर टेंशन में केन्द्र, कोरोना संक्रमण को लेकर उत्तराखंड सरकार को पत्र लिखा

हाइलाइट्स:

  • हरिद्वार कुंभ मेले में कोरोना प्रभावित राज्यों से आने वाले तीर्थयात्री को लेकर चिंता
  • पवित्र शाही स्नान के बाद स्थानीय लोगों में संक्रमण के मामले बढ़ने की आशंका
  • हरिद्वार में प्रतिदिन हो रही 50 हजार रेपिड एंटीजेन जांच पर्याप्त नहीं

नई दिल्ली
कुंभ मेले के दौरान कोविड-19 के मामलों में वृद्धि होने की आशंका के मद्देनजर केंद्र सरकार ने उत्तराखंड सरकार को पत्र लिखा है जिसमें महामारी को फैलने से रोकने के लिए कड़े कदम उठाने की जरूरत को रेखांकित करने वाले एक उच्च स्तरीय केंद्रीय दल की चिंताओं का उल्लेख किया गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी एक वक्तव्य में बताया गया कि हरिद्वार में कुंभ मेले में चिकित्सा तथा जन स्वास्थ्य व्यवस्था की समीक्षा के लिए राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र (एनसीडीसी) के निदेशक के नेतृत्व में केंद्र सरकार के एक दल ने 16-17 मार्च के बीच उत्तराखंड का दौरा किया था।

कोरोना प्रभावित राज्यों वाले श्रद्धालु बढ़ा सकते हैं परेशानी
उत्तराखंड के मुख्य सचिव को लिखे पत्र में केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने कहा कि पिछले कुछ सप्ताह में भारत में 12 से अधिक राज्यों में कोविड-19 के मामलों में वृद्धि आई है और हरिद्वार कुंभ मेले में इन राज्यों से भी तीर्थयात्री आ सकते है। मंत्रालय ने कहा, “कुंभ मेले के दौरान पवित्र शाही स्नान के बाद स्थानीय लोगों में संक्रमण के मामले बढ़ने की आशंका है।”

रोजाना होने वाले टेस्ट को लेकर जताई चिंता
सचिव ने यह भी कहा कि केंद्रीय दल की रिपोर्ट के मुताबिक प्रतिदिन 10-20 तीर्थयात्रियों और 10-20 स्थानीय लोगों के संक्रमित होने की जानकारी मिल रही है। वक्तव्य में कहा गया, “संक्रमण की यह दर मामलों में वृद्धि होने की आशंका को बढ़ाती है क्योंकि कुंभ के दौरान अधिक संख्या में लोगों के आने की उम्मीद है।” राज्य को बताया गया कि हरिद्वार में प्रतिदिन हो रही 50 हजार रेपिड एंटीजेन जांच और पांच हजार आरटीपीसीआर जांच तीर्थयात्रियों की संभावित संख्या को देखते हुए पर्याप्त नहीं है।

haridwar mahakumbh 2021

Source link

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: