Advertisment
BANGALORE

kamal hasan in tamilnadu election: kamal haasan political fight in tamil nadu difficult know about what electoral mathematics says तमिलनाडु में कमल हासन की लड़ाई मुश्किल समझिए क्या कहता है चुनावी गणित

Advertisment

चेन्‍नै
दक्षिण के सुपरस्टार से राजनेता बने कमल हासन (Kamal Hasan In Tamilnadu Elections) को कोयंबटूर दक्षिण में कड़ी चुनावी लड़ाई का सामना करना पड़ सकता है। जिस सीट से उन्होंने 6 अप्रैल को होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए अपनी पार्टी मक्कल नीधि मय्यम (एमएनएम) से नामांकन पत्र दाखिल किया। कमल को बीजेपी नेता वनाथी श्रीनिवासन, जो कि पार्टी की महिला मोर्चा की राष्ट्रीय अध्यक्ष भी हैं, जो एआईएडीएमके-बीजेपी गठबंधन के उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ रही हैं।

कांग्रेस नेता मयूरा जयकुमार डीएमके-कांग्रेस गठबंधन के उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ेंगे, जबकि अम्मा मक्कल मुनेत्र कड़गम (एएमएमके) ने एआईएडीएमके के पूर्व नेता चैलेंजर आर डोरिसामी को चुना है जो एक उद्योगपति हैं। श्रीनिवासन ने 2016 के विधानसभा चुनावों में 21.57 वोटिंग प्रतिशत के साथ अकेले 33,113 वोट हासिल किए थे और एआईएडीएमके के उम्मीदवार अम्मान के. अर्जुनन ने 38.94 प्रतिशत के साथ 59,788 वोट पाकर सीट जीती थी। अन्नाद्रमुक और बीजेपी अब एक चुनावी गठबंधन में हैं और श्रीनिवासन उस गठबंधन के उम्मीदवार हैं जो उन्हें मजबूत बनाता है। साल 2016 के विधानसभा चुनावों में कांग्रेस के उम्मीदवार के रूप में मयूरा जयकुमार ने 27.60 वोटिंग प्रतिशत पर 42,369 वोट हासिल किए थे और एआईएडीएमके के अम्मान के अर्जुनन से चुनाव हार गए थे।

मुस्लिमों से मिल जाए जमीनी समर्थन तो…
चैलेंजर दोराई अन्नाद्रमुक के पूर्व विधायक थे, जिन्होंने तत्कालीन द्रमुक उम्मीदवार एन. पलानीसामी को 27,796 मतों के अंतर से हराया था। कमल हासन अपनी पार्टी के उपाध्यक्ष आर महेंद्रन द्वारा 2019 के संसद चुनावों में अच्छा प्रदर्शन करने के बाद जब एमएनएम ने पहली बार चुनाव लड़ा था, तब उन्हें मिले वोटों को लेकर उम्मीद कायम है। महेंद्रन ने चुनाव में कोयम्बटूर दक्षिण विधानसभा क्षेत्र से 23,838 वोट हासिल किए थे, लेकिन सीपीएम-डीएमके गठबंधन के पी आर नटराजन से तीसरे स्थान पर रहे। जिन्हें 64,453 वोट मिले, जबकि बीजेपी के सी.पी. राधाकृष्णन ने 46,368 वोट हासिल किए। हालांकि, कमल हासन महेंद्रन की तुलना में जनता के बीच बहुत अधिक लोकप्रिय चेहरा हैं और अगर कमल को मुस्लिम समुदाय से जमीनी समर्थन मिल जाता है, जो महेंद्रन के वोटों से जुड़े हैं, तो उनका चुनाव जीतने की संभावना है।

कमल हासन की गाड़ी पर हमले की कोशिश, नशे में धुत्त आरोपी गिरफ्तार

लोकप्रियता के दम पर ताकत झोंक रहे हासन
अल्पसंख्यक मुसलमानों और ईसाइयों का निर्वाचन क्षेत्र में 25 प्रतिशत वोट हैं और दलित का 20 प्रतिशत वोट बैंक है। कमल हासन अपनी लोकप्रियता के साथ इन मतदाताओं पर ताकत झोंक रहे हैं। आर महेंद्रन ने बताया, ‘कमल हासन दक्षिण भारत के एक लोकप्रिय व्यक्ति हैं और पिछले लोकसभा चुनाव में मुझे मिले वोटों के सहारे उन्हें अल्पसंख्यक मुसलमानों, ईसाइयों और दलितों का समर्थन हासिल करना शानदार जीत होगी।’ कमल हासन निर्वाचन क्षेत्र में हैं। लोगों से मिल रहे हैं। जिम में जा रहे हैं। रास्ते के ढाबों में चाय पी रहे हैं। लोगों के मुद्दों को सुन रहे हैं और कोयम्बटूर के मार्शल आर्ट पर भी हाथ आजमा रहे हैं और लोगों के बीच लोकप्रियता बढ़ा रहे हैं। कोयंबटूर दक्षिण सीट पर एक कड़ी टक्कर है।

चुनाव के आंकड़े मतदान केंद्र
377 मतदाता (पुरुष) : 1,25,416 मतदाता (महिला) : 1,25,950 थर्ड जेंडर : 23 कुल 2,51,389 2016 का चुनाव परिणाम कुल मतदाता : 2,45,307 मतदान हुआ : 1,53,533 (62.59 फीसदी) अम्मन के अर्जुनन (एआईएडीएमके): 59,788 (38.94 फीसदी) मयूरा एस जयकुमार (कांग्रेस): 42,369 (27.60 फीसदी) वनाथी श्रीनिवासन (भाजपा): 33,113 (21.57 फीसदी) सी पद्मनाभन (सीपीएम): 7,248 (4.72 फीसदी) नोटा : 3,331 (2.17 फीसदी)

Advertisment
Show More
Advertisment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisment