Advertisment
MUMBAI

maharashtra lockdown news: aroundeighty to ninety percent trains are running: 80 से 90 प्रतिशत हो रहा है ट्रेनों का संचालन

Advertisment

हाइलाइट्स:

  • मुंबई डिवीजन के कई स्टेशनों पर तत्काल प्रभाव से प्लेटफार्म टिकट की बिक्री बंद
  • प्लेटफार्म पर लोगों की भीड़ को रोकने के लिए वेटिंग लिस्ट वाले लोगों को भी प्रवेश देने से मना कर दिया गया
  • फिलहाल पश्चिम रेलवे में 100 से लेकर 300 तक की वेटिंग लिस्ट चल रही है
  • 80 से 90 प्रतिशत हो रहा है ट्रेनों का संचालन

मुंबई
महाराष्ट्र में बढ़ते कोरोना के खतरे के पीछे मजदूरों के पलायन की खबरें सुर्खियां बनने लगी है। जानकारी के मुताबिक अब राज्य से रोजाना तकरीबन एक लाख मजदूरों के पलायन की खबर सामने आ रही है। इन मजदूरों को इस बात का डर है कि कहीं राज्य में संपूर्ण लॉकडाउन लग गया तो मुश्किलें बढ़ सकती हैं। फिलहाल कई जगहों पर फैक्ट्रियों में कामकाज बंद होने की भी खबरें है। जिसकी वजह से वह मजदूरों को पलायन करना पड़ रहा है।

हालांकि पंचायत चुनावों के चलते हुए लोग अब गांव की तरफ जा रहे हैं लोगों का यह भी कहना है कि मुंबई में साप्ताहिक लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यू के अलावा कई बंदिशों की वजह से धंधा नहीं हो पा रहा है। जिसकी वजह से गांव जाने में ही भलाई है। कई लोगों का यह भी कहना है कि पंचायत चुनाव में खड़े उम्मीदवार तमाम लोगों के लिए बस की व्यवस्था भी कर रहे हैं।

नहीं मिल रहा है प्लेटफॉर्म टिकट
रेलवे स्टेशनों पर लोगों की बढ़ती भीड़ को रोकने के लिए रेल प्रशासन ने मुंबई डिवीजन के कई स्टेशनों पर तत्काल प्रभाव से प्लेटफार्म टिकट की बिक्री बंद कर दी है। जिन स्टेशनों पर प्लेटफार्म की बिक्री बंद की गई है। उनमें छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस,लोकमान्य तिलक टर्मिनस, कल्याण, ठाणे, दादर और पनवेल रेलवे स्टेशन शामिल है।

वेटिंग लिस्ट वालों को प्लेटफार्म पर एंट्री नहीं
वेस्टर्न रेलवे के जीएम आलोक कंसल ने एनबीटी ऑनलाइन को बताया कि रेलवे स्टेशन और प्लेटफार्म पर लोगों की भीड़ को रोकने के लिए वेटिंग लिस्ट वाले लोगों को भी प्रवेश देने से मना कर दिया गया है। अब रेलवे स्टेशन और प्लेटफार्म पर सिर्फ वही लोग जा सकेंगे जिनके पास कंफर्म टिकट होगा। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि जिन लोगों को रेलवे की तरफ से वेटिंग वाले टिकट जारी किए गए हैं। उनमें से ज्यादातर लोगों के टिकट कोचों की संख्या बढ़ाकर कंफर्म कर दिए जाते हैं। कंसल ने बताया कि फिलहाल पश्चिम रेलवे में 100 से लेकर 300 तक की वेटिंग लिस्ट चल रही है और इसी के आधार पर हम यह तय करते हैं कि किस रूट पर कितनी ट्रेनें चलानी है। जिस रूट पर ज्यादा लोगों की वेटिंग होती है उस रूट पर ट्रेनों का संचालन किया जाता है।

80 से 90 प्रतिशत हो रहा है ट्रेनों का संचालन
आलोक कंसल ने बताया कि पिछले साल लॉकडाउन के बाद पश्चिम रेलवे ने धीरे- धीरे 310 लंबी दूरी की गाड़ियों का संचालन शुरू किया था। जिसमें से फिलहाल 90% यानी 266 ट्रेनों का संचालन किया जा रहा है। इसमें से उत्तर प्रदेश, बिहार और दिल्ली की तरफ जाने वाली 116 ट्रेनों का संचालन पश्चिम रेलवे की तरफ से किया जा रहा है। जो वेस्टर्न रेलवे के अलग-अलग स्टेशनों से छूटती हैं।

मध्य रेल में भी ने भी बढ़ाई ट्रेनें की संख्या
उत्तर भारत की तरफ जाने वाले मुसाफिरों के लिए सबसे ट्रेनें मध्य रेलवे की तरफ से संचालित की जाती है। मध्य रेलवे के वरिष्ठ जनसंपर्क अधिकारी ए.के. जैन के मुताबिक अब तकरीबन 80% लंबी दूरी की गाड़ियों का संचालन किया जा रहा है। पहले मुंबई डिवीजन से तकरीबन 110 ट्रेनिंग ऑपरेट की जाती थी। एके जैन ने बताया कि फिलहाल मुंबई से 42 से 45 ट्रेन रोजाना उत्तर भारत के लिए जाती हैं और इन ट्रेनों में 14 से 15 सौ मुसाफिर यात्रा करते हैं। हालांकि जो तस्वीरें फिलहाल सामने आ रही हैं उनके मुताबिक भारी तादाद में लोग ट्रेनों में यात्रा कर रहे हैं ये वो लोग हैं जो लॉकडाउन से डर कर अपने गृह जिलों के लिए पलायन कर रहे हैं।

स्पेशल ट्रेनों के जरिये भीड़ को नियंत्रित करने की कोशिश
मध्य रेलवे और पश्चिम रेलवे दोनों ही समर स्पेशल ट्रेनों को चलाकर रेलवे स्टेशनों पर बढ़ती भीड़ को नियंत्रित करने का प्रयास कर रहे हैं। मध्य रेलवे ने मुंबई से रांची जाने के लिए विशेष ट्रेन की शुरुआत की है। जिसकी बुकिंग 9 तारीख से शुरू होगी। इसके पहले भी दरभंगा के लिए विशेष ट्रेन चलाई गई है। वहीं पश्चिम रेलवे द्वारा बांद्रा टर्मिनस से बरौनी के बीच एक और अतिरिक्त साप्ताहिक विशेष ट्रेन शुरू की गई है इस ट्रेन का रिजर्वेशन 10 अप्रैल से शुरू होगा।

मध्य रेल के महाप्रबंधक की अपील
मध्य रेल के महाप्रबंधक संजीव मित्तल ने आज वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस के माध्यम से अपील की है, ‘पुराने और फेक वीडियो शेयर न करें औऱ कोविड 19 के उचित व्यवहार का पालन करें विभिन्न स्टेशनों पर भीड़ दिखाने वाले कुछ पुराने वीडियो सोशल मीडिया में फैलाये जा रहे हैं, तथा कुछ समाचार रिपोर्टों में गलत रूप से यह भी उल्लेख किया गया है कि बड़ी संख्या में लोगों का मूवमेंट हो रहा है। हम सभी से अपील करते हैं कि ऐसे वीडियो को शेयर न करें लोगों से अनुरोध है कि वे ऐसी अफवाहों पर विश्वास न करें। मित्तल ने कहा कि रेलवे यात्रियों की सुविधा के लिए गर्मियों में अधिक से अधिक ट्रेनें चलाता है और उन ट्रेनों में पर्याप्त टिकट उपलब्ध हैं क्योंकि केवल यात्रियों को ही कन्फर्म टिकट दिया जा रहा है।

Advertisment

Related Articles

Advertisment
Show More
Advertisment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisment