Advertisment
DELHI

mamata banerjee support arvind kejriwal: Centre Vs State: Mamata Banerjee wrote letter to Arvind Kejriwal and supports him against GNCTD bill: ममता ने केजरीवाल को भेजी समर्थन वाली चिट्ठी, शाह और मोदी पर अटैक- ‘लगातार दो हार पचा नहीं पाए’

Advertisment

हाइलाइट्स:

  • GNCTD विधेयक के मुद्दे पर सीएम अरविंद केजरीवाल को मिला टीएमसी अध्यक्ष ममता बनर्जी का साथ
  • ममता बनर्जी ने अरविंद केजरीवाल को पत्र लिखकर सरकार के खिलाफ उनके ‘संघर्ष’ समर्थन जताया
  • ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार के बिल को संघीय ढांचे पर सर्जिकल स्ट्राइक करार दिया, केजरीवाल बोले शुक्रिया

नई दिल्ली
केंद्र सरकार के राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र संशोधन (GNCT) विधेयक के मुद्दे पर सीएम अरविंद केजरीवाल को टीएमसी अध्यक्ष ममता बनर्जी का साथ मिला है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केजरीवाल को पत्र लिखकर सरकार के खिलाफ उनके ‘संघर्ष’ समर्थन जताया है। ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार के बिल को संघीय ढांचे पर सर्जिकल स्ट्राइक करार दिया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर ममता बनर्जी का आभार जताया है।

दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने केंद्र की ओर से लोकसभा में पेश किए गए राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र संशोधन बिल का कड़ा विरोध किया है और इस बिल के विरोध में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बीते बुधवार को जंतर मंतर पर प्रदर्शन भी किया था। ममता बनर्जी के समर्थन के बाद केजरीवाल ने ट्वीट कर उन्हें शुक्रिया कहा।

‘लोकतंत्र की हत्या कर लाया गया बिल’
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को लिखे पत्र में कहा है कि ‘केंद्र की बीजेपी सरकार द्वारा संसद में पेश किया गया यह बिल भारत के संघीय ढांचे पर सर्जिकल स्ट्राइक है। गैर संवैधानिक ढंग से और लोकतंत्र की हत्या करते हुए एक गैर संवैधानिक बिल लाया गया है। सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ ने 2018 में दिए आदेश में चुनी हुई दिल्ली सरकार को अधिकार दिए थे और स्पष्ट किया था कि पुलिस, पब्लिक ऑर्डर और जमीन को छोड़कर बाकी सभी मुद्दों पर दिल्ली सरकार को फैसला लेने का अधिकार है।’

दिल्ली में लगातार दो हार पचा नहीं पाए शाह-मोदी
ममता ने अपने पत्र में लिखा है कि बीजेपी दिल्ली सरकार के अधिकारों को छीनकर केंद्र सरकार द्वारा नियुक्त किए गए उपराज्यपाल को ही सारे अधिकार दे देना चाहती है। उन्होंने कहा है कि प्रधानमंत्री मोदी और होम मिनिस्टर अमित शाह दिल्ली में लगातार दो हार पचा नहीं पाए और यही कारण है कि वे परोक्ष रूप से दिल्ली में सरकार चलाना चाहते हैं।

बीजेपी दिल्ली में परोक्ष रूप से करना चाहती है शासन
बीजेपी सरकार पर निशाना साधते हुए ममता ने कहा, ‘2014 और 2019 विधानसभा चुनावों में बीजेपी को बड़ी हार का सामना करना पड़ा और इस बिल को लाने का मकसद यही है कि बीजेपी दिल्ली में परोक्ष रूप से शासन करना चाहती है।’ उन्होंने यह भी लिखा है कि वे इस मुद्दे पर समर्थन के लिए तमाम गैर बीजेपी मुख्यमंत्रियों और राजनीतिक दलों को भी पत्र लिखेंगी।

लोकतंत्र पर हमले के खिलाफ मिलकर लड़ने का वक्त
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने लिखा है कि लोकतंत्र पर किए जा रहे हमले के खिलाफ मिलकर लड़ाई लड़ने का समय आ गया है। बीजेपी की केंद्र सरकार द्वारा राज्य सरकारों के अधिकारों को कम करने की साजिश की जा रही है। उन्होंने लिखा है कि ‘आप की लड़ाई में मेरा आपको पूरा समर्थन है, आपका संघर्ष मेरा संघर्ष है। देश के संघीय ढांचे को बचाने के लिए सबको मिलकर लड़ाई लड़नी होगी।

केजरीवाल ने ममता को कहा- शुक्रिया
इससे पहले गुरुवार सुबह भी ममता बनर्जी ने केंद्र के बिल का विरोध किया था जिसके बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर आभार जताया था। केजरीवाल ने कहा था कि जो भी भारत और लोकतंत्र का समर्थन करता है वह इस बिल का विरोध जरूर करेगा। उम्मीद है कि बीजेपी सरकार इस बिल को वापस लेगी। केजरीवाल ने ममता बनर्जी के स्वास्थ्य और बंगाल चुनाव में उनकी जीत की भी कामना भी की।

Mamata Banerjee supports Arvind Kejriwal

Advertisment

ममता बनर्जी ने केजरीवाल को दिया समर्थन

Related Articles

Advertisment
Show More
Advertisment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisment