Advertisment
DELHI

news on water supply in delhi: no water in delhi since 3 days: east delhi water supply issue:

Advertisment

नई दिल्ली: पूर्वी और उत्तर-पूर्वी दिल्ली के एक बड़े हिस्से में शुक्रवार सुबह आखिरी बार दिल्ली जल बोर्ड का पानी सप्लाई हुआ था। उसके बाद से पाइपलाइनों के जरिए सप्लाई बंद है। लोगों को बताया गया कि विकास मार्ग पर पानी की लाइनों को इंटरकनेक्ट करने का काम होना है। इसकी वजह से 13 तारीख की सुबह 10 बजे के बाद ही पानी की सप्लाई बहाल हो पाएगी। यह सोचकर शनिवार का दिन तो लोगों ने किसी तरह काट लिया, मगर जब शनिवार की शाम तक भी पानी की सप्लाई बहाल नहीं हुई, तो लोगों का सब्र जवाब देने लगा। और रविवार की दोपहर तक भी जब पानी नहीं आया, तो लोग पानी की तलाश में सड़कों पर उतरने को मजबूर हो गए। रविवार रात तक लोग पानी का इंतजार करते रहे।

मंदिर, पेट्रोल पंप और दुकानों तक पानी के लिए भीड़
अनधिकृत कॉलोनियों और झुग्गी-बस्तियों में ही नहीं, बल्कि डीडीए फ्लैट्स और पॉश कॉलोनियों से लेकर सोसायटियों तक में पानी को लेकर हो-हल्ला मच गया। लोगों ने जब पानी का टैंकर मंगाने के लिए जल बोर्ड के नंबरों पर फोन किए, तो उन्हें कोई रिस्पॉन्स नहीं मिला। ऐसे में पानी की तलाश में लोगों को हाथों में बोतलें और बाल्टियां लेकर घरों से निकलना पड़ा। किसी को धार्मिक स्थलों पर पानी मिला, तो किसी ने अपने घर पर लगे सब-मर्सिबल के जरिए आसपास के लोगों को पानी मुहैया कराया। कहीं, बस्ती में लगे पुराने हैंडपंप पर लोगों की लाइन लगी नजर आई, तो कहीं पेट्रोल पंप और दुकानों तक पर जाकर लोग पानी के लिए मदद की गुहार लगाते दिखे। जन प्रतिनिधियों को भी लोगों की इस समस्या की जानकारी तो मिली, मगर उनसे भी आश्वासन के सिवा लोगों को ज्यादा कुछ मदद नहीं मिल पाई। हालांकि, झुग्गी-बस्तियों में जरूर कुछ टैंकर पहुंचे, लेकिन पानी के लिए इंतजार कर रहे हजारों लोगों की भीड़ के सामने वे नाकाफी साबित हुए।

मरमम्त में लगे 3 दिन, ईस्ट दिल्ली में आज से सामान्य होगी पानी की सप्लाई
पानी की बोतलें भी नदारद, छोटी वालीं महंगी कीं
लक्ष्मी नगर, मयूर विहार, पांडव नगर जैसे इलाकों में पीजी और किराए के मकानों में रहने वाले स्टूडेंट्स भी शनिवार और रविवार को पानी के लिए भटकते दिखे। इसका असर रेहड़ी-खोमचों पर भी नजर आया, जिन पर अचानक कस्टमर बढ़ गए। वहां लोगों को खाने-पीने का सामान तो मिल गया, लेकिन पानी की समस्या नजर आई। रेहड़ी वालों का कहना था कि शनिवार की शाम से बोतल के पानी की सप्लाई भी पूरी तरह ठप हो गई है। पानी बेचने वाले दुकानदारों ने इस मौके का फायदा उठाने में कोई कसर नहीं छोड़ी। पानी की 20 लीटर वाली बड़ी बोतलें पूर्वी दिल्ली के बाजारों से नदारद हो गईं, जिसकी वजह से लोगों को 2 या 5 लीटर वाली छोटी बोतलें खरीदकर काम चलाना पड़ा। 20 लीटर वाली जो बोतल आम दिनों में 40-50 रुपये में मिल जाती थीं, वो 80 से 100 रुपये तक में बिक रही थी। बर्तन साफ करने या नहाने के लिए बिना फिल्टर किया 20 लीटर कच्चा पानी, जो पहले 20-30 रुपये में आसानी से मिल जाता था, वह भी 50-50 रुपये में बेचा जा रहा था। झुग्गियों में तो कई लोगों ने महंगा पानी खरीदकर आपस में शेयर किया, ताकि उनके ऊपर ज्यादा बोझ ना बढ़े।

कैसा पानी पी रहे हैं आप…आसानी से करा सकेंगे जांच, कोरोना टेस्ट सिस्टम का मिलेगा फायदा
सोशल मीडिया पर लोग करते रहे सवाल
पानी कब आएगा, इसके बारे में लोग जल बोर्ड से भी लगातार सोशल मीडिया पर सवाल करते रहे, लेकिन उन्हें यही जवाब मिलता रहा कि ‘जल्द ही सप्लाई बहाल हो जाएगी’। कई लोग तो पूछताछ करने के लिए विकास मार्ग पर उस जगह भी पहुंच गए, जहां काम चल रहा था। वहां जाकर लोगों की अधिकारियों से बहसबाजी भी हुई, लेकिन बदले में कोरा आश्वासन ही मिल पाया। खबर लिखे जाने तक लोग घरों में बैठे हुए थे, ताकि जैसे ही सप्लाई बहाल हो, तो वो पानी भर सकें।

Advertisment
Show More
Advertisment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisment