Advertisment
WORLD

Who Is North Korea Dictator Kim Jong Un Sister Kim Yo Jong And Why They Warned United States

Advertisment

उत्तर कोरिया और अमेरिका के बीच तनातनी कोई नई बात नहीं है. हालांकि, ट्रंप प्रशासन के दौरान जरूर उत्तर कोरिया और अमेरिका के बीच संबंधों में सुधार करने की कोशिश की गई थी. लेकिन, दक्षिण कोरिया और अमेरिका के बीच संयुक्त सैन्य अभ्यास की आलोचना करते हुए उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन की बहन ने अमेरिका की नई बाइडेन सरकार को कड़ी चेतावनी दी है. किम जोंग की बहन किम यो जोंग ने अमेरिका के बाइडेन प्रशासन को सख्त चेतावनी देते हुए कहा कि वे अगर 4 साल शांति के साथ रहना चाहता है तो नया विवाद ना खड़ा करे.

किम की बहन ने अमेरिका को चेताया

किम जोंग की बहन ने अमेरिका और दक्षिण कोरिया के बीच ज्वाइंट मिलिट्री प्रैक्टिस को लेकर एक इंटव्यू के दौरान कहा कि अमेरिका के नए प्रशासन को हमारी ओर से एक सलाह है कि वे हमारी जमीन पर बारूद की दुर्गंध ना फैलाएं. किम की बहन ने आगे कहा- “अगर वे 4 साल तक चैन की नींद सोना चाहते हैं तो यह बेहतर होगा कि वे इस बारूद की दुर्गंध से दूर रहें.”

कौन है किम यो जोंग की बहन

दरअसल, किम यो जोंग उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग-उन की छोटी बहन है. उन्हें नॉर्थ कोरिया के तानाशाह का सबसे भरोसेमंद और मुख्य सलाहकार माना जाता है. किम यो जोंग पहली बार अंतरराष्ट्रीय सुर्खियों में उस वक्त आई जब साल 2018 में वह दक्षिण कोरिया जानेवाली किम वंश की मेंबर बनी थी. उसी वर्ष किम यो जोंग के अपने भाई और नॉर्थ कोरिया के शासक किम जोंग उन के साथ कूटनीतिक रणनीतियां बनाते हुए भी देखा गया था.

किम जो जोंग का पॉलिटिकल कद उस वक्त साल 2017 के अक्टूबर में बढ़ा जब वे पोलित ब्यूरो की सदस्य बनी थीं. उससे पहले किम जो योंग उस महकमे की उप-निदेशक थी जो किम जोंग की पब्लिक इमेज और पॉलिसी के प्रचार-प्रसार की जम्मेदारी संभालता है.

क्यों भड़कीं हैं किम जोंग की बहन?

Advertisment

अमेरिका ने इससे पहले कहा था कि वे कुछ ही हफ्तों में उत्तर कोरिया से संपर्क स्थापित करेगा. अमेरिका ने कहा कि आने वाले समय में वह उत्तर कोरिया से बातचीत कर परमाणु हथियार कार्यक्रम को लेकर चल रहे विवाद को खत्म करने की कोशिश करेगा. साथ ही कहा कि यदि कोई मसला है तो इसे एक दूसरे से बातचीत कर सुलझाने की कोशिश की जाएगी.

Related Articles

इधर, उत्तर कोरिया ने कहा है कि वे जो बाइडेन को अमेरिका का राष्ट्रपति नहीं मानते हैं. साथ ही कहा कि दक्षिण कोरिया के साथ मिलकर वह हमपर हमला करने की साजिश रच रहे हैं लेकिन हम ऐसा होने नहीं देंगे. किम यो जोंग ने ऐसे समय में यह बयान दिया है जब अमेरिका के विदेश मंत्री पहली बार जापान और दक्षिण कोरिया के दौरे पर जाने वाले हैं.

ये भी पढ़ें: जो बाइडेन सरकार को उत्तर कोरिया की कड़ी चेतावनी, कहा- चार साल चैन से सोना है तो खड़ा ना करें नया विवाद

Advertisment
Show More
Advertisment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisment